हजरत अय्यूब

                      हजरत अय्यूब
हजरत अय्यूब हजरत इसहाक की औलाद में से है | उन का शुमार अरब के पैगम्बरों में होता है | वह अल्लाह तआला के नेक और बडे साबिर शाकिर बंदे थे | 

उन्होंने सब्र व शुक्र की ऐसी मिसाल पेश की के खुद अल्लाह तआला ने उन के सब्र व तकवा की शहादत दी | वह एक कामयाब ताजिर और मामलात में हददर्जा अमानत दार होने के साथ तकवा व परहेजगारी में भी बेमिसाल थे | वह गरीबों को खाना खिलाते, बेवाओं, मिस्कीनों और तंगदस्तों की खूब मदद किया करते थे | अल्लाह तआला ने उन्हें बहुत माल व दौलत और औलाद से नवाजा था फिर सख्त आजमाइश और इम्तेहान में मुब्तला किया और अता करदा माल व दौलत और औलाद सब कुछ वापस ले लिया और खुद वह अठ्ठारा साल तक बीमारी में मुब्तला रहे | मगर इस कडी आजमाइश में भी, कभी भी अपनी जबान से शिकवा शिकायत नही किया | और हमेशा सब्र व शुक्र ही करते रहे और अल्लाह तआला से दुआएं माँगते रहे | अल्लाह तआला ने उन की दुआ कबूल फर्माई और सब्र के बदले में उन्हें पहले से जियादा माल व दौलत और औलाद से नवाजा और बीमारी से नजात दे कर सेहत व तंदुरुस्ती आता फर्माई |     

Comments

Popular posts from this blog

जुलकरनैन

हजरत युसूफ की नुबुव्वत व हुकूमत

हजरत याकूब