हजरत इसहाक की पैदाइश

                हजरत इसहाक की पैदाइश
हजरत इसहाक की विलाद्त बासआदत अल्लाह तआला की एक बडी निशानी है, क्योंकि उन की पैदाइश ऐसे वक्त में हुई जब के उन के वालिद हजरत इब्राहीम की उम्र १०० साल और उन की वालीदा हजरत सारा की उम्र ९० साल हो चुकी थी, हालाँके आम तौर पर इस उम्र में औलाद नहीं होती है |

जब फरिश्तों ने उन की पैदाइश की खुशखबरी दी, तो दोनों हैरत व तअज्जूब में पड गए | मगर फरिशतों ने यकीन दिलाया और कहा : आप नाउम्मीद मत हों | चुनान्चे अल्लाह तआला के हुक्म से इसहाक पैदा हुए | उसी साल हजरत इब्राहीमइस्माईल ने बैतुल्लाह की तामीर फर्माई थी | यह हजरत इस्माईल से चौदा साल छोटे थे | ६० साल की उम्र में हजरत इब्राहीम ने अपने भतीजे की लडकी से उन की शादी कराई, उन से दो लडके पैदा हुए, एक का नाम ईसू और दुसरे का नाम याकूब था |                                                                                                
                                          

Comments

Popular posts from this blog

जुलकरनैन

हजरत युसूफ की नुबुव्वत व हुकूमत

हजरत याकूब