सिला रहमी करणा


                  सिला रहमी करणा

कुर्आन में अल्लाह तआला फर्माता है : “जो लोग अल्लाह के अहद को तोडते हैं, उस के मजबूत कर लेने के बाद और उन तअल्लुकात को तोडते हैं, जिन के जोडने का अल्लाह तआला ने हुक्म दिया है और जमीन में फसाद मचाते हैं, यही लोग नुकसान उठाने  वाले हैं |”

खुलासा : रिश्ते, नाते और तअल्लुकात को बरकरार रखना बहुत जरुरी है |      

Comments

Popular posts from this blog

हजरत आदम के दो बेटे

जुलकरनैन

हजरत युसूफ की नुबुव्वत व हुकूमत