जमात से नमाज पढने की ताकीद


                     जमात से नमाज पढने की ताकीद  

 रसूलुल्लाह सल. ने फर्माया : “मर्दो को चाहिये के वह जमात को छोडने से रुक जाएँ; वरना मैं उन के घरों में आग लगवा दुँगा |”

नोट : जमात छोडने वालों के लिये हदिसों में बहुत सख्त वईदें बयान की गई हैं, इस लिये तमाम मुसलमान मर्दो पर जमात का एहतेमाम करना बहुत जरुरी है |         


Comments

Popular posts from this blog

जुलकरनैन

हजरत युसूफ की नुबुव्वत व हुकूमत

हजरत याकूब